Director Nitin Desai की मौत हत्या है या आत्महत्या? सब कुछ जानिए

Art Director  Nitin Desai का निधन: बॉलीवुड शोकग्रस्त

हिंदी सिनेमा के लिए एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है, मशहूर आर्ट डायरेक्टर Nitin Desai का अपार दुःखद निधन हो गया है। उनके Suicide की खबर ने फिल्म उद्योग को गहराई से कांप दिया है। नितिन को मुंबई से लगभग 80 किलोमीटर दूर स्थित ND स्टूडियों में लटकते हुए पाया गया। रिपोर्ट्स के अनुसार, उन्हें आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ रहा था और हाल ही में एक विज्ञापन एजेंसी ने उन पर धोखाधड़ी का आरोप लगाया था।

एडवर्टाइजिंग एजेंसी ने Nitin Desai  पर लगाया था धोखाधड़ी का आरोप (Allegations of Deception:)

मई में हुई घटना के अनुसार, नितिन पर धोखाधड़ी का आरोप लगा था। एक विज्ञापन एजेंसी ने दावा किया था कि उन्होंने तीन महीनों तक काम करवाने के बाद उन्हें लगभग 51 लाख रुपए नहीं दिए थे। नितिन ने इन आरोपों को तीव्रता से खारिज किया था।Director Nitin Desai की मौत हत्या है या आत्महत्या? सब कुछ जानिए

Nitin Desai   फिल्म सेट डिज़ाइन के श्रेष्ठतम उपलब्धि(Masterpieces of Film Set Design)

नितिन का फिल्म उद्योग में महत्वपूर्ण योगदान था। उन्होंने “हम दिल दे चुके सनम“, “लगान“, “जोधा अकबर” और “प्रेम रतन धन पायो” जैसी कई धमाकेदार फिल्मों के लिए क्रिएटिव फोर्स बने। उनके भव्य सेट डिज़ाइन को समीक्षकों और दर्शकों ने सबसे ज़्यादा प्रशंसा की। इन शानदार फिल्मों के लिए नितिन को चार राष्ट्रीय पुरस्कार भी मिले, जो उनके अपार कला नेतृत्व को सम्मानित करते हैं।

Nitin Desai पहले प्रोजेक्ट के सेट पर लगातार 13 दिन और 13 रात काम किया

“प्रेम रतन धन पायो” के लिए तो सलमान ने बस एक शानदार शीशमहल बनाया था, जिसमें लाखों ग्लासेज़ चमकते रहते थे। सलमान खान की खूबसूरत फिल्मों की तस्वीरें उस शीशमहल के साथ दिलों को छू गई थीं। और जब सलमान यहां आते थे, वे बिना बढ़िया सिक्योरिटी के, सिर्फ़ एक स्कूटी पर सवार होकर घूमते थे, जिससे कि उन्हें आनंद का एहसास होता था।
वो पहले प्रोजेक्ट के सेट पर लगातार 13 दिन और 13 रात काम करते रहे। 1987 में उन्होंने टीवी शो ‘तमस’ से अपना करियर शुरू किया था और उसी सेट पर 13 दिन और 13 रात तक मेहनत करते रहे। एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया था कि उस समय वो अपने 15 मिनट नहाने जाने से भी कट्टरपंथी थे क्योंकि वो उन 15 मिनटों को खुद को देना नहीं चाहते थे। एक इंसान की मेहनत और समर्पण का ज़ाहिरी सबूत थे वो।

Nitin Desai  ने  एक्टिंग के क्षेत्र में भी प्रयास किए:

आर्ट डायरेक्टर के रूप में उनके उल्लेखनीय काम के अलावा, NITIN  ने एक्टिंग में भी अपना हाथ आजमाया। उन्होंने “दाऊद फन ऑन द रन“, “हैलो! हम लल्लन बोल रहे हैं” और “हम सब एक हैं” जैसी फिल्मों में अभिनय किया। इसके अलावा, 2011 में आई फिल्म “हैलो! जय हिंद” के सह-निर्देशक बनकर उन्होंने भी काम किया। इसके साथ ही, नितिन ने मराठी फिल्मों के निर्देशन में भी अपने प्रतिभा का प्रदर्शन किया, जिससे उनकी मल्टीफैसेटेड पेशेवर जीवनी दिखी।
बड़ी खोखली ज़िंदगी के चलते मिली दुखद खबर ने मनोरंजन जगत को गहरी दुखी कर दिया है। नितिन देसाई के अनगिनत योगदान हिंदी सिनेमा को हमेशा याद किया जाएगा और सम्मानित किया जाएगा।

 Nitin Desai ने  7 महीने से स्टाफ को सैलरी नहीं दी थी

महाराष्ट्र के विधायक महेश बाल्दी ने बुधवार को कहा कि देसाई आर्थिक तंगी से जूझ रहे थे। भास्कर को स्टूडियो स्टाफ ने बताया कि देसाई ने कर्मचारियों को 7 महीने से सैलरी नहीं दी थी। खर्च के लिए थोड़े-थोड़े पैसे दे रहे थे। स्टूडियो मैनेजर समेत ज्यादातर स्टाफ ने नौकरी छोड़ दी थी।

लॉकडाउन में फाइनेंशियल प्रॉब्लम से गुजरे, भास्कर को बताई थी मेडिकल प्रॉब्लम

भास्कर ने इसी साल अप्रैल में नितिन देसाई का इंटरव्यू लिया था। इस दौरान उन्होंने ऑफ कैमरा बताया था कि बेटी की शादी के बाद उनकी मेडिकल प्रॉब्लम काफी बढ़ गई थी। वे लॉकडाउन के वक्त भी फाइनेंशियल प्रॉब्लम से जूझ रहे थे। उन्होंने अपने करियर, एनडी स्टूडियो और जिंदगी के बारे में भी कई बातें साझा की थीं।

उन्होंने एक किस्सा सुनाया कि मां हमेशा पूछती थीं कि आर्ट डायरेक्टर का क्या काम होता है। मेरे मैले कपड़े देखकर मां हमेशा पूछती कि तू करता क्या है? मां को इसका जवाब देने के लिए मुझे साढ़े 6 साल लग गए। एक दिन ‘चाणक्य’ के सेट पर मैंने अपने माता-पिता को आमंत्रित किया। पूरा सेट दिखाया। मैंने बताया कि ये पूरा पैलेस मैंने बनाया है। ये सुनकर उनका दिल भर आया, वो रो पड़ी, मैं भी रो पड़ा। 

OMG 2 अक्षय कुमार की नई फिल्म देखें जिसमें हिंदू भगवान नजर आएंगे

watch the video https://www.youtube.com/watch?v=qJ44lRYrapw&t=88s

3 thoughts on “Director Nitin Desai की मौत हत्या है या आत्महत्या? सब कुछ जानिए”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *